मोदी सरकार को दिखा नोटबंदी का असर, अपनों से ही मिली करारी हार

मोदी सरकार को दिखा नोटबंदी का असर, अपनों से ही मिली करारी हार

नई दिल्ली। मोदी सरकार द्वारा 500 और 1000 के नोट बंद करने के बाद इसका असर पहली बार प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी को गुजरात चुनाव में देखने को मिला है। जिस कारण मादी सरकार को अपने ही घर में करारी हार का सामना करना पड़ा है। बता दे कि मोदी के राज्य गुजरात में भी भाजपा बुरी तरह से हारी है और 31 में से 20 जिला पंचायतों में कांग्रेस जीती है।

गौरतलब हो कि केंद्र की मोदी सरकार ने नोटबंदी का फैसला कितनी जल्दबाजी में किया है इसका परिणाम महराष्ट्र के बाद अब गुजरात में भी देखने को मिला है। बता दे कि केंद्र सरकार द्वारा अचानक से नोटबंदी करने के फैसले से शहरी इलाकों की बजाए ग्रामीण क्षेत्रों में लोग ज्यादा नाराज है। गौरतलब हो मोदी सरकार द्वारा अचानक से नोटबंदी करने से सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। प्रधानमंत्री मोदी के गृहराज्य गुजरात निकाय चुनाव के परिणाम शायद इसी ओर संकेत कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि गुजरात निकाय चुनाव में शहरी इलाकों में भाजपा अपनी साख बचाने में किसी तरह कामयाब हो गई है मगर ग्रामीण निवासियों ने भाजपा को करारा झटका दिया है।

मीडियां में आ रही खबरों के अनुसार भाजपा ने सभी छह महानगरपालिका में जीत दर्ज की है। साथ ही 56 में से 40 नगरपालिका भी भाजपा के हिस्से में आई है। मगर वहीं 31 जिला पंचायत में से कांग्रेस ने 20 पर कब्जा जमा लिया। जबकि इससे पहले उसके पास एक ही जिला पंचायत थी। इतना ही नहीं 230 तहसील पंचायत में कांग्रेस ने 116 पर कब्जा किया जबकि भाजपा को 61 पर ही संतोष करना पड़ा। वहीं ऊंझा में भाजपा सभी 36 सीटों पर हार गई है।

शहरी लोगों को कुछ कम परेशानी होने के कारण से गुजरात ने शहरों में भाजपा को समर्थन दिया है मगर इसके साथ ही ग्रामीण गुजरात से उसका जनाधार कम होता नजर आ रहा है। वहीं आपकों बता दे कि मुख्यमंत्री आनंदी बेन व गृह राज्य मंत्री रजनी पटेल के गृहनगर मेहसाणा में भी भाजपा की करारी हार हुई है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकसभा क्षेत्र रहे वडोदरा जिले में कांग्रेस ने भाजपा पर बढ़त बना ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *