इडी का खुलासा,नोटबंदी के बाद बसपा के खाते में जमा हुए 104 करोड़

इडी का खुलासा,नोटबंदी के बाद बसपा के खाते में जमा हुए 104 करोड़

नई दिल्ली। सोमवार को ईडी की छापेमारी के दौरान दिल्ली के करोलबाग स्थित यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के ब्रांच बहुजन समाज पार्टी के एक खाते में 104 करोड़ रुपये मिलने का मामला सामने आ रहा है। वहीं इसके अलावा पार्टी प्रमुख तथा उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के भाई आनंद कुमार के खाते में भी करीब 1.43 करोड़ रुपये जमा किए जाने की रसीद मिलने की बात सामने आ रही है। मीडियां खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि इस जांच में पहले तो यह बात सामने आई ​की नोटबंदी 8 नवंबर के बाद से आनंद कुमार के खातों में एक करोड़ 43 लाख रुपये जमा किए गए है।

रूटीन जाचं के लिए गई थी टीम
टीवी पर आ रही खबरों के अनुसार इस जांच से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक ईडी की टीम नोटबंदी के बाद खातों में जमा हुए रकम की रूटीन जांच के लिए करोलबाग पहुंची थी। जांच के दौरान वहां यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की एक ब्रांच में दो अलग-अलग खातों में बड़ी रकम के जमा होने का मामला सामने आया है।

इस जांच में सामने आया कि नोटबंदी के बाद से बसपा के खातों में 102 करोड़ 1000 रुपये के पुराने नोट जमा हुए है। इसके अलावा बाकि रुपये 500 रुपये के पुराने नोटों में जमा किए गए है। इन खातों में यह रकम नोटबंदी के बाद की जमा हुई बताया जा रही है। इसके अलावा बसपा पार्टी की ओर से इस मामले में फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।
ऐसे दूसरे दिन जमा हो रहे थे करोड़ों रुपये
इस मामले में एक दिलचस्प बात यह सामने आ रही है कि नोटबंदी के बाद हर एक दिन के अंतराल पर बसपा के इस खाते में करीब 15-17 करोड़ रुपये जमा किए गए है। वहीं इसके अलावा इसी इसी ब्रांच में बसपा प्रमुख मायावती के भाई आनंद कुमार का भी खाता पाया गया है। आनंद कुमार के खाते में 1.43 करोड़ रुपये जमा किए गए है। जमा की गई रकम में 18.98 लाख रुपये पुराने नोटों की शक्ल में जमा किए जाने का मामला सामने आ रहा है।
इसके अलावा यह खबर भी आ रही है कि इस मामले सामने आने के बाद ईडी ने यूनियन बैंक से इन दोनों खातों की पूरी जानकारी मांगी है। साथ ही इस मामले के बारे में आयकर विभाग को भी बताया जा रहा है। गौरतलब हो कि इसी विभाग को राजनीतिक दलों के चंदे के बारे में जांच का हक है। इसके अलावा यह भी बताया जा रहा है कि बसपा प्रमुख मायावती के भाई आनंद कुमार के खिलाफ कुछ और गैरकानूनी लेनदेन के बारे में पहले से ही ईडी और आयकर विभाग जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *