राहुल गाधी के बाद कांग्रेस पार्टी का ऑफिशियल टि्वटर अकाउंट हैक

राहुल गाधी के बाद कांग्रेस पार्टी का ऑफिशियल टि्वटर अकाउंट हैक

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट हैक करने के बाद गुरुवार की सुबह कांग्रेस पार्टी का आधिकारिक ट्विटर खाता हैक कर लिया गया। इतना ही नहीं अकाउंट हैक करने के बाद हैकर्स ने कांग्रेस पार्टी का ट्विटर खाता @INC India हैक कर उससे कई अपमानजनक ट्वीट किए गए है। गौरतलब हो कि इससे एक दिन पहले ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का ट्विटर खाता भी हैक किया गया था। इसके बाद गुरूवार को दौबारा उनका ट्विटर खाता हैक कर लिया गया था। जिसके बाद इस मामले में एफआईआर दर्ज कराया गया है।

गौरतलब हो कि बुधवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का ट्विटर खाता बुधवार को हैक कर लिया गया था। जिसके बाद उस अकाउंट से कई अपमानजक ट्वीट किए गए थे। मगर बाद में इन सभी ट्वीट हटा दिए गए था। बताया जा रहा है कि हैकर्स ने राहुल गांधी की प्रोफाइल तस्वीर भी हटा दी। इतना ही नहीं हैकर्स ने खाते का शीर्षक ऑफिसऑफआरजी से बदलकर रिटार्डिड गांधी कर दिया था।

जिस पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि इस तरह की घटिया चालों से तर्कपूर्ण बातें खत्म नहीं होंगी ना ही आम आदमी के मुद्दे उठाने से राहुल गांधी पीछे हटेंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि उन्हें इसमें किसी साजिश का अंदेशा लग रहा है, उन्होंने कहा कि यह मौजूदा फासीवादी संस्कृति की अशांत असुरक्षाओं को प्रदर्शित करता है। राहुल के ट्विटर हैंडल को हैक करने में बिकाऊ ट्रोलों का इस तरह अशोभनीय, अनैतिक और शातिर आचरण मौजूदा फासीवादी संस्कृति की असुरक्षा को दिखाता है।

हैक कर यह किए गए ट्वीट
हैकर द्वारा कांग्रेस पार्टी का अकाउंट हैक करने के बाद एक ट्वीट में कहा गया है कि क्रिसमस स्पेशल के लिए बने रहिए, आपकी पार्टी को रसातल में ले जाने के लिए हमारे पास पर्याप्त सूचनाएं है। वहीं इसके अलावा एक अन्य ट्वीट में लिखा गया कि हर मंदबुद्धि जो यह सोचता है कि हमारे पास राजनीतिक एजेंडा है नहीं है। वहीं एक अन्य ट्वीट में कहा गया कि भ्रष्ट राजनीतिक पार्टी निर्दोष हैकर्स के बारे में अपमानजनक बात करने की कोशिश कर रही है,तुम क्या सोचते हो कि तुम कूल हो। इसके साथ ही एक अन्य ट्वीट में कहा गया है कि याद रखो. हमारी संख्या बहुत अधिक है, हमसे मत भिड़ो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *