अखिलेश सरकार नोटबंदी से मरने वालों को देगी 2 लाख का मुआवजा

अखिलेश सरकार नोटबंदी से मरने वालों को देगी 2 लाख का मुआवजा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नोटबंदी के दौरान में बैंक लाइन में मरने वालों लोगों पर एक बड़ा फैसला लेते हुए दो— दो लाख मुआवजा देने का ऐलान किया है। इतना ही नहीं इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश में नोटबंदी के कारण बैंकों और एटीएम की कतार में नोट बदलवाने में लगे लोगों की मृत्यु को दुखद बताया है। इसी कारण से उन्होंने प्रदेश में बैंकों और एटीएम की लाइन में हुई मौत पर बड़ा फैसला लेते हुए आर्थिक रूप से कमजोर मृतक परिवारों को दो-दो लाख मुआवजा देने का ऐलान किया है।

इस दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश में नोटबंदी के कारण बैंकों और एटीएम की कतार में नोट बदलवाने में लगे लोगों की मृत्यु को दुखद बताया। उन्होंने कहा सरकार ‘मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष’ से आर्थिक रूप से कमजोर सभी मृतकों के परिजनों को परीक्षणोपरान्त दो-दो लाख रुपए मुहैया कराएगी। वहीं इसके अलावा भी मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ की रज़िया पत्नी अकबर हुसैन के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उनके परिजन को ‘मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष’ से 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। साथ ही इस घटना को दुखद बताते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता को अपनी ही धनराशि निकालने के लिए इस प्रकार बैंकों एवं एटीएम की लाइन में लगना पड़ रहा है।

वहीं इस बारे में जानकारी देते हुए शासन के प्रवक्ता ने बताया कि नोटबंदी के बाद रज़िया अपने कारखाने से मजदूरी के रूप में प्राप्त 500-500 के 6 नोट बदलवाने के लिए अपने नज़दीकी बैंक में लगातार तीन दिन तक कोशिश करती रहीं, लेकिन वह नोट बदलने में सफल नहीं हो पायी है। जिसके बाद इस पर आर्थिक रूप से कमजोर रज़िया ने दुखी होकर अपने आप को आग लगा ली थी। जिसमें गम्भीर रूप से जली रज़िया को उपचार के लिए नई दिल्ली में भर्ती कराया गया था। जहां पर इलाज के दौरान 4 दिसम्बर को निधन हो गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *